India

लखीमपुर प्रकरण : दस घंटे में मांग पूरी न होने पर टिकैत ने दी बड़े आंदोलन की चेतावनी, रिटायर्ड जज की अध्यक्षता में कमेटी करेगी जांच

लखीमपुर प्रकरण : कृषि कानूनों और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी की टिप्पणी का विरोध कर रहे किसानों और मंत्री के बेटे के बीच रविवार को हिंसक टकराव में आठ लोगों की मौत के बाद उत्तर प्रदेश में बवाल मचा हुआ है। लखीमपुर खीरी में हुई घटना की जांच के लिए योगी सरकार ने रिटायर्ड जज की अध्यक्षता कमेटी के गठन का एलान किया है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने कहा कि योगी सरकार ने मृतकों के परिजनों को 45-45 लाख रुपये व घायलों को 10-10 लाख रुपये देने की घोषणा की गई है।

उन्होंने कहा कि मामले में जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा। इस संबंध में किसान नेता राकेश टिकैत की प्रदेश सरकार के अधिकारियो से बंद कमरे में चर्चा हुई। राकेश टिकैत ने कहा मुआवजे के साथ मृतकों के परिजनों के एक सदस्य को सरकारी नौकरी, मृतकों के परिजनों को 45 लाख रुपये का मुआवजा के साथ ही मंत्री के बेटे के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के अलावा, मंत्री पुत्र की गिरफ्तारी और मंत्री को बर्खास्त करने की मांग।

इसके बाद संयुक्त किसान मोर्चा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने एलान किया कि शव का पोस्टमार्टम होने दिया जाए। टिकैत ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर 10 घंटे में यह मांग पूरी न हुई तो बड़े आंदोलन की तैयारी की रूपरेखा तैयार की जाएगी।

Most Popular