Uttar Pradesh

लखीमपुर खीरी मामला: सपा और कांग्रेस कार्यकर्ता किसानों की हत्या के विरोध में सड़क पर उतरे, वकीलों ने फूंका सरकार का पुतला

प्रयागराज: कृषि कानूनों और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी की टिप्पणी का विरोध कर रहे किसानों और मंत्री के बेटे के बीच रविवार को हिंसक टकराव में आठ लोगों की मौत के बाद उत्तर प्रदेश में बवाल मचा हुआ है। लखीमपुर खीरी में किसानों की हत्या के बाद सभी जगह आक्रोश का माहौल बना हुआ है, इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने लखीमपुर खीरी घटना के विरोध में अंबेडकर चौराहे पर बाबा साहब आंबेडकर प्रतिमा के समक्ष धरना प्रदर्शन किया। इसके बाद सरकार का पुतला दहन करते हुए नारेबाजी की।

अधिवक्ताओं ने कहा कि सरकार किसानों के आंदोलन को दबाने के लिए अब कुचक्र कर रही है। दुर्भाग्य है कि भाजपा के सांसद भी इसमें शामिल हैं। सांसद के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। लखीमपुर खीरी घटना के विरोध में कांग्रेसियों ने सिविल लाइंस स्थित धरना स्थल पर धरना प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की।

लखीमपुर खीरी में किसानों की हत्या के विरोध में प्रयागराज में सपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सड़क पर उतरकर जमकर नारेबाजी की। कांग्रेस के लोगों ने यूपी सरकार को तत्काल बर्खास्त करने की मांग की। सपाइयों ने कहा कि भाजपा सरकार में किसानों पर अत्याचार किया जा रहा है। भाजपा सांसद के द्वारा किसानों की हत्या कराई जा रही है। प्रदेश में जंगलराज कायम हो गया है।

सियासी उबाल के बीच कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी लखीमपुर के लिए रात में निकली लेकिन उन्हें सीतापुर के हरगांव में पुलिस ने हिरासत में ले लिया। अखिलेश यादव को भी लखनऊ में हिरासत में लिया गया था, जिन्हें बाद में छोड़ दिया गया।

Most Popular