यूपी: पिता के निधन के बाद अखिलेश यादव ने पूरी की अस्थि संचयन व पिंडदान की रस्म, परंंपराओं का निर्वाहन करते हुए कराया मुंडन

मुलायम सिंह यादव: सपा संस्थापक और समाजवादी नेता मुलायम सिंह यादव का उनके पैतृक गांव सैफई में मंगलवार दोपहर 3:00 बजे महोत्सव ग्राउंड में बने समाधि स्थल पर मुलायम सिंह का अंतिम संस्कार किया गया। बुधवार सुबह अखिलेश यादव ने अपने पिता की अस्थियों का संचयन और पिंडदान किया।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पिता के निधन के बाद परिवारिक और सामाजिक परंपराएं निर्वाहन की। बुधवार सुबह अभयराम यादव की कोठी पर पहुंचे अखिलेश यादव, शिवपाल यादव, पुत्र प्रतीक, अर्जुन आदि ने मुंडन करवाया। इसके बाद अखिलेश, शिवपाल यादव, रामगोपाल यादव, प्रतीक सभी लोग अखिलेश की कोठी पर पहुंचे। सुबह से लोगों का आना-जाना लगा हुआ है।

उन्होंने कहा कि पिता के जाने का दुख प्रकट किया। उन्होंने कहा कि आज पहली बार लगा… बिन सूरज के सवेरा उगा।

उन्होंने बुधवार सुबह पिता की चिता के दर्शन किए। इस दौरान वह बहुत गंभीर नजर आ रहे थे। उनके साथ उनके परिवार व गांव के लोग मौजूद थे।

उड़ीसा के सैंड आर्टिस्ट सुदर्शन पटनायक ने इस तरह सपा संरक्षक को श्रद्घांजलि दी। मुलायम सिंह के अंतिम दर्शन के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। जब तक सूरज चांद रहेगा… नेताजी का नाम रहेगा… और नेता जी अमर रहे के नारे उनके समर्थक लगाते रहे। मुलायम सिंह यादव के अंतिम दर्शन के लिए देश के सभी बड़े राजनेता आए थे। भाजपा, कांग्रेस और दक्षिण के राज्यों के मुख्यमंत्री व प्रमुख नेता अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे थे।