Education

लखनऊ विश्वविद्यालय मूट कोर्ट एसोसिएशन ने किया हाऊ टू प्रीपेयर फ़ॉर क्लेट विषय पर वेबिनार का आयोजन

लखनऊ विश्वविद्यालय मूट कोर्ट एसोसिएशन द्वारा आज एक ऑनलाइन सेशन का आयोजन किया गया जिसका विषय “हाऊ टू प्रीपेयर फ़ॉर क्लेट पीजी” था। इस आयोजन की वक्ता लखनऊ विश्वविद्यालय मूट कोर्ट एसोसिएशन की भूतपूर्व सह-संयोजक मुस्कान अग्रवाल रहीं। इन्होंने हाल ही में आयोजित हुई क्लेट पीजी-2021 की परीक्षा में 7वां स्थान प्राप्त किया है।

कार्यक्रम की शुरुआत विधि संकाय के प्रमुख एवं विभागाध्यक्ष प्रोफेसर सी.पी.सिंह द्वारा की गई। जिन्होंने खुद मुस्कान अग्रवाल जी का परिचय कराया तथा आज के इस कार्यक्रम की भूमिका को भी बताया। उन्होंने कहा कि आज बड़े ही हर्ष का विषय है कि हमारी पुरातन छात्रा मुस्कान ने क्लेट पीजी-2021 में विश्विद्यालय का नाम रोशन किया है। मुस्कान प्रारम्भ से ही बड़ी प्रतिभावान एवं संघर्षशील छात्रा रही हैं। उन्होंने अपने एलएलबी कोर्स के दौरान बहुत से प्रसिद्ध मूट कोर्ट में यूनिवर्सिटी का प्रतिनिधित्व किया है। आज वो सभी बच्चों के लिए प्रेरणास्रोत हैं। हम सब उनसे सिख सकते हैं कि अगर हम किसी भी चीज को सच्ची लगन और निष्ठा से पाने का प्रयत्न करेंगे तो वो अवश्य ही हमें मिलेगी।

ततपश्चात मुस्कान जी को बोलने के लिए आमंत्रित किया गया। उन्होंने प्रोफेसर सी.पी.सिंह का आभार व्यक्त किया तथा सभी श्रोताओं को बताया कि क्लेट पीजी की परीक्षा द्वारा राष्ट्रीय विधि विश्विद्यालय में प्रवेश लिया जाता है। उन्होंने बताया की हमें सदैव अपने पाठ्यक्रम से अवगत रहना अनिवार्य है और 2020 में ही क्लेट पीजी के पाठ्यक्रम में बदलाव किए गए थे। हमें हमेशा स्मार्ट स्टडी करने की आवश्यकता होती है। विधि के क्षेत्र में अनन्त ज्ञान है लेकिन हर परीक्षा के हिसाब से उसका पाठ्यक्रम निर्धारित है। पाठ्यक्रम के साथ हमें हाल ही में हुए विधि के क्षेत्र में विकास पर था उच्चतम न्यायालय एवं उच्च न्यायालयों द्वारा दिये गए महत्वपूर्ण निर्णयों पर विशेष ध्यान देना होता है, जिससे क्लेट पीजी स्तर की कई परीक्षाओं में सवाल हल करने में आसानी रहती है। इसके साथ ही साथ हमें अपने सभी विषयों का बेसिक ज्ञान तो होना ही चाहिए। इसके बाद उन्होंने अपने उन यादगार पलों को साझा किया जो उन्होंने विधि संकाय में बिताए थे।

Most Popular