Uttar Pradesh

पुराने विवाद में मारपीट के दौरान युवक की मौत

 

✍️ विकास शुक्ला

मिल्कीपुर अयोध्या।

पखवारे पूर्व दोनों पक्षों मे हुई थी मारपीट, पुलिस ने घटना को किया था नजरअंदाज।काश इनायत नगर पुलिस चेती होती तो बच सकती थी राजू की जान।पुलिस ने 5 लोगों के खिलाफ दर्ज किया गैर इरादतन हत्या का मुकदमा।इनायत नगर थाना क्षेत्र अंतर्गत कुचेरा गांव के छत्तर पाठक का पुरवा में पुराने विवाद को लेकर दो पक्षों में हुई जमकर मारपीट के दौरान 40 वर्षीय युवक की मौत हो गई है। पुलिस ने मृतक का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हालांकि इनायतनगर पुलिस ने मामले में 5 लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या सहित गंभीर आपराधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार छत्तर पाठक का पुरवा निवासी राजू पाठक और नरेंद्र पाठक के बीच पुराने विवाद को लेकर आए दिन मारपीट हुआ करती थी। बीते पखवाड़े पूर्व कुचेरा बाजार में दोनों पक्षों में मारपीट हुई थी मौके पर पहुंची पीआरबी पुलिस टीम हमलावरों में से एक युवक को पकड़कर थाने भी ले गई थी किंतु इनायत नगर थाने के प्रभारी निरीक्षक ने मामले में बिना कोई प्रभावी कार्यवाही किए ही आरोपी युवक को अभय दान दे दिया था। जिसका परिणाम बीते शुक्रवार की देर रात नरेंद्र पाठक ने अपने साथियों के साथ राजू के घर पर धावा बोल दिया। मामला इस कदर बढ़ गया कि दोनों पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चलने लगे। मारपीट में 42 वर्षीय राजू पाठक एवं दूसरे पक्ष से नरेंद्र की पत्नी शोभावती पाठक उम्र करीब 60 वर्ष गंभीर रूप से घायल हो गई घटना की जानकारी के बाद ग्रामीणों ने आनन-फानन में एंबुलेंस बुलाकर गंभीर रूप से घायल राजू पाठक को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मिल्कीपुर पहुंचाया सीएचसी के डॉक्टरों ने हालत गंभीर देख राजू पाठक को इलाज के लिए जिला अस्पताल रेफर कर दिया। कुछ ही देर बाद इनायत नगर पुलिस थाने की सरकारी जीप से 60 वर्षीय महिला शोभावती को भी इलाज के लिए सीएचसी लेकर पहुंची। महिला को भी मारपीट में आई गंभीर चोटों के आधार पर सीएचसी के डॉक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में घायल राजू पाठक की इलाज के दौरान मौत हो गई। घटना के बाद गांव सहित क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। ग्रामीणों का कहना है कि पखवाड़े पूर्व कुचेरा बाजार में दिनदहाड़े हुई मारपीट की घटना में इनायत नगर पुलिस प्रभावी कार्यवाही की होती तब शायद राजू की जान बच सकती थी। ग्रामीण राजू पाठक की मौत में जहां एक ओर उनके गांव के हमलावरों को कसूरवार ठहरा रहे हैं वहीं दूसरी ओर इनायतनगर पुलिस की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान लगाते हुए पुलिस को घटना के प्रति जिम्मेदार बता रहे हैं। प्रभारी निरीक्षक राहुल कुमार ने बताया कि मामले में मृतक के बेटे दिलीप कुमार पाठक की तहरीर पर 5 लोगों पेशकार, नरेंद्र, नकुल, सतीश और दूधनाथ के खिलाफ धारा 147, 148, 304, 504, 506 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है हालांकि मामले में भी किसी भी आरोपी को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी है। प्रभारी निरीक्षक राहुल कुमार ने बताया कि मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम गठित करते हुए गिरफ्तारी के प्रयास जारी है।

Most Popular